Skip to main content

Posts

भूख बढ़ाने का शक्तिशाली शाबर मंत्र

इस आर्टिकल भूख नहीं लगती या कम भूख लगती इस परेशानी से मुक्ति पाने के लिए बोलने के एक सटीक भूख बढ़ाने के शाबर मंत्र की जानकारी दी गयी है। इस मंत्र प्रयोग की विधि अत्यंत सरल और आसान है इसलिए इस परेशानी से चिंतित व्यक्ति इसे बिना परेशानी से कर सकता है और इस मंत्र का असर शीघ्र होता है।

शक्तिशाली बृहस्पति ग्रह दोष निवारण उपाय और मंत्र

कुंडली में नीच, कमजोर या दुर्बल गुरु / बृहस्पति / Jupiter ग्रह के दोषों का निवारण करने के सरल लेकिन सटीक तुरंत काम करने वाले उपायों के बारे में इस आर्टिकल में जानकारी दी गयी है।

किसी भी रोग से मुक्ति पाने के लिए महाशक्तिशाली लघु मृत संजीवनी मंत्र

असाध्य रोगों और जीर्ण और जटिल बीमारी से मुक्ति पाने के लिए मृत संजीवनी मंत्र के महाशक्तिशाली लघु यानी की शॉर्ट प्रकार की जानकारी इस आर्टिकल में दी गयी है।

शिव गायत्री मंत्र बोलने से मुश्किल से मुश्किल परेशानी दूर होती है

शिव गायत्री मंत्र का शिवजी में भक्ति रखकर जाप करने से मुश्किल से मुश्किल परेशानी हल हो जाती है और बाधाओं, रोगों, रुकावटों का निवारण हो जाता है।

शक्तिशाली श्री कृष्ण गायत्री मंत्र और उनके जाप के प्रचंड लाभ

इस आर्टिकल में पांच शक्तिशाली श्री कृष्ण गायत्री मंत्रों की जानकारी दी गयी है। यह श्री कृष्ण मंत्र इस कलियुग के अत्यंत कठिन काल में सर्व लोगों को सकारात्मक ऊर्जा खींचने में बहुत लाभदायक साबित होंगे।

महा पापों और बुरे कर्मों का नाश करने वाला गुरु दत्तात्रेय मंत्र

इस आर्टिकल में भगवान दत्तात्रेय के महाशक्तिशाली सर्व पाप और बुरे कर्मों का नाश करने वाले मंत्र की जानकारी दी गयी है। इस त्रिलोक गुरु भगवान दत्तात्रेय का मंत्र इतना असरदार है की यह पिछले जन्म के साथ-साथ इस जन्म के पापों का नाश करता है। इस मंत्र को बोलने के प्रमुख लाभ: 1] पापों और बुरे कर्मों का नाश होकर जीवन में सुख-शांति और समाधान की प्राप्ति होती है। 2] रुकावट और बाधा दूर होकर बिगड़े काम बन जाते है। 3] रोगों और क्लेश से मुक्ति मिलती है। 4] नौकरी-धंदे और पढ़ाई में तरक्की होती है। 5] सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है। मंत्र विधि: इस महा पाप नाशक मंत्र को हर रोज सवेरे 108 बार बोलें। खुद जगद्गुरु आदि शंकराचार्य गुरु दत्तात्रेय की इस प्रकार से प्रार्थना करते थे - जो आदि में ब्रह्मा, मध्य में विष्णु तथा अन्त में सदाशिव है, उन भगवान दत्तात्रेय को बारम्बार नमस्कार है | ब्रह्मज्ञान जिनकी मुद्रा है, आकाश और भूतल जिनके वस्त्र है तथा जो साकार प्रज्ञानघन स्वरूप है, उन भगवान दत्तात्रेय को बारम्बार नमस्कार है || मंत्र अत्रिपुत्रो महातेजा दत्तात्रेयो महामुनि: | तस्य स्मरणमात्रेण सर्वपापै: प्रमुच्यते ||

श्री सिद्धि विनायक अष्टोत्तर शतनाम-नामावली इंग्लिश और हिन्दी

श्री सिद्धि विनायक अष्टोत्तर शतनाम-नामावली / Shri Siddhivinayak Ashtottara Shatanamavali इन इन इंग्लिश एण्ड हिन्दी।