Skip to main content

श्री कृष्ण और राधा रानी के तुरंत असर करने वाले चमत्कारी मंत्र


इस पोस्ट में, मैंने राधा रानी और श्री कृष्ण भगवान के सरल और आसान लेकिन बहुत ही चमत्कारी और शीघ्र असर करने वाले मंत्रों के बारे में लिखा है। इन प्रचंड पॉजिटिव एनर्जी यानी की सकारात्मक ऊर्जा का तुरंत आकर्षण करने वाले सटीक मंत्रों का जाप करने से हर चीज संभव हो जाती है और हर दुख-दर्द और शत्रु का नाश हो जाता है।

राधा रानी और श्री कृष्ण भगवान का अटूट रिश्ता है और जहाँ कृष्ण होते है वहाँ राधा माता होती है और जहाँ राधा रानी होती है वहाँ कृष्ण होते है। और एक की पूजा करने से दूसरे को भी प्रसन्न करके उसका आशीर्वाद मिल जाता है।

इस आर्टिकल में जो राधा रानी और श्री कृष्ण भगवान के मंत्रों के बारे में मैंने लिखा है वह आजमाए हुए मंत्र है जिनकी शक्ति का लाभ और फायदा अनगिनत भक्तों को प्राप्त हुआ है और उनके जीवन का कल्याण हुआ है।

राधा रानी और श्री कृष्ण के चमत्कारी मंत्र

इन राधा रानी चारों मंत्रों का फल एक जैसा है, और अगर माता का सच्चा भक्त इन चार मंत्रों में से किसी भी एक मंत्र को चुन कर उस मंत्र से एकरूप होकर राधा रानी में अटूट भक्ति रखकर बोलेगा तो उसे बिना मांगे असीमित धन-दौलत, वैभव, संपदा और हर प्रकार का मानसिक और शारारिक सुख मिलेगा। अपने जीवन में सच्चा प्यार और मोहब्बत आकर्षित करने के लिए यह बहुत प्रभावी मंत्र है। 

१] श्री राधे ||
Sri Radhe ||

२] जय श्री राधे ||
Jai Sri Radhe ||

३] राधा-राधा ||
Radha-Radha ||

४] Radhe Radhe ||
राधे राधे ||


इस राधा रानी के मंत्रों का जाप करने का सरल तरीका: मंत्र जाप किसी भी दिन से आरंभ किया जा सकता है और भक्त ने माता का स्मरण करने के बाद इन चार मंत्रों में से किसी भी एक मंत्र को चुन कर उसका जितना चाहे उतना मानसिक या वाचिक जाप करना है। लेकिन ध्यान रहें कि कम से कम एक माला जाप करना है।

अपार धन पाने का कृष्ण मंत्र:
इस मंत्र को आत्मविश्वास के साथ बोलने से कृष्ण-भक्त को मनचाहे धन-दौलत, वाहन, मकान और अन्य ऐश-आराम के चीजें प्राप्त होती है।

गोवल्लभाय स्वाहा ||
Govallabhaya Swaha ||

मनोकामना पूर्ति श्री कृष्ण मंत्र: यह एक बहुत ही सरल लेकिन अचूक और महा शक्तिशाली मनोकामना पूरी करने का श्री कृष्ण मंत्र है जो असंभव लगने वाली इच्छाओं और मनोरथों की पूर्ति करने के लिए अत्यंत असरदार है।

गोकुल नाथाय नम: ||
Gokul Nathay Namah ||


इन श्री कृष्ण मंत्रों का जाप कैसे करें:
इन मंत्रों को हर रोज भगवान श्री कृष्ण का स्मरण करके ७, ११ या १०८ बार कीया जा सकता है। मंत्र जाप करने के लिए कोई भी नियम या बंधन नहीं है, लेकिन साधक को श्री कृष्ण भगवान में भक्ति और श्रद्धा होना जरूरी है।

इन सर्व राधा-रानी और श्री कृष्ण भगवान के मंत्रों के विडिओ आप हमारे यूट्यूब चैनल पर देख सकते हो: Prophet666

Comments

Popular posts from this blog

तुरंत काम करने वाले काली माता और हनुमानजी के महाशक्तिशाली शत्रु नाशक मंत्र

इस आर्टिकल में सबसे असरदार और तुरंत काम करने वाले काली माता और हनुमानजी के शत्रु नाशक मंत्रों की जानकारी दी गयी है। इन महाशक्तिशाली शत्रु को नष्ट करने वाले मंत्रों से किसी भी शत्रु का नाश कीया जा सकता है।

लाख कोशिश करने के बाद भी सफलता नहीं मिल रही है तो इस गणेश मंत्र को बोलें

लाख कोशिश करने के बाद भी किसी भी काम, कार्य या हेतु, जैसे कि नई नौकरी-धंधा पाने की कोशिश, प्यार-शादी करने के प्रयास, नया मकान खरीदने की कोशिश और अन्य कामों और मनोकामना पूरी करने में यश नहीं मिल रहा है तो इस श्री गणेश जी के सर्व कार्य सिद्धि मंत्र को बोलने से यश मिलने की संभावना बढ़ जाती है.

पानी से तुरंत महाशक्तिशाली वशीकरण करने का मंत्र

इस आर्टिकल में तुरंत काम करने वाले एक 3 शब्दों के महा शक्तिशाली और सटीक पानी या जल से वशीकरण करने के मंत्र की जानकारी दी गयी है।

चमत्कारी बीज मंत्र और उनका जाप करने के फायदे

देवी देवताओं के १४ चमत्कारी और महा शक्तिशाली देवी देवताओं के बीज मंत्रों के रहस्य लाभ और फायदे इस पोस्ट में बताई गयी है. इन बीज मंत्रों का जाप या रोज स्मरण करने से आम इंसान, बच्चे और साधकों को लाभ हो सकता है.

बरगद के पेड़ के पत्ते के चमत्कारी उपाय

बरगद के पेड़ के पत्ते से किसी भी प्रकार की इच्छा या मनोकामना पूरी करने के और धन-दौलत पाने के 2 चमत्कारी सरल और आसान उपायों के बारे में इस आर्टिक्ल में जानकारी दी गयी है। इन घरेलू उपायों को करने के लिए ज्यादा से ज्यादा 5-10 मिनट लगते है। और यह इतने सरल है की इनका प्रयोग कोई भी व्यक्ति बिना परेशानी से कर सकता है।

महा शक्तिशाली मनोकामना पूर्ति और शत्रु नाशक बीज मंत्र

इस आर्टिकल में महादेव के मुख से निकले और डामर तंत्र में वर्णित सबसे शक्तिशाली मनोकामना पूर्ति करने के और दुश्मन से मुक्ति पाने के महा मंत्र के बारे में बताया है।